jab kisi ki yaad aaye to क्या करे- lovesove

jab kisi ki yaad aaye to क्या करे- lovesove

“jab kisi ki yaad aati hai to kya karna chahiye” और हमें किसी की यादों से बहार कैसे आना है। बहुत से लोग कमेंट में पूछते रहते है। आखिर “jab kisi ki yaad aaye to क्या करे। आज हम इसी का जवाब बड़ी ही सुन्दर व्याख्या से देंगे। जिसे आप सबको पूरा पढ़ना चाहिए।

याद हमारे जीवन में उसी की आती है। जिससे हम पूरी तरह से आत्ताच हो जाते है। जिसके लिए बाध्य हो जाते है। याद लाइफ वो खूबसूरत लम्हा होता है। जिसका तड़फ भी हमें दर्द में होता है। लेकिन ख्वाब उस चेहरे का होता है। जिसको देखने के लिए दिन रात तड़फते रहते है।

jab kisi ki yaad aaye to क्या करे- lovesove

याद जीवन का सबसे खूबसूरत पल होता है। सबसे खतरनाक याद लव का होता है। प्यार में लोग याद करते करते आशु बहा देते है। इतना बेचैन हो जाते है। वो खुद को भूल जाते है। हमेशा उन सुन्दर ख्वाबों में डूबे रहते है। जिसमे एक आम आदमी का रहना मुश्किल होता है।

किसी प्रेमी प्रेमिका को सबसे ज्यादा याद तब आती है। जब उनके बीच चल रहा प्रेम प्रसंग अचानक ब्रेक हो जाता है। दोस्तों यह मंजर वाकई बेहद दर्द भरा हो जाता है। इसमें संभालना मुश्किल हो जाता है। हमेशा प्रेयसी की यादों में डूबे रहते है। उसी में उनकी सुबह से शाम हो जाती है।

“jab kisi ki yaad aati hai to kya karna chahiye”-jab kisi ki yaad aaye to क्या करे

जब भी आपको किसी प्रेमी ya प्रेमिका की याद सताए। तो घबराये नहीं हिम्मत से काम ले। अगर संभव हो तो किसी तरह बात करने का प्रयाश करे। और उनको बताये अपनी बेबसी के बारे में , अगर वो किसी रीज़न बस आपसे दूर है। तो उनके उस बात को समझने का प्रयास करे।

आप वेट करे। सबकुछ सही हो जायेगा। फिर से आपका प्यार आपको मिल जायेगा। जनाब यह प्यार है। यहाँ सब्र की भी जरुरत होती है। आपको अपने प्यार की यादों में तड़फना काफी ज्यादा लगता है। तो आप और इतिहास देख ले लोग कितना तड़फते है।

“jab kisi ki yaad aaye to क्या करे

जब भी किसी की याद आये तो सबसे पहले अपने रिश्ते के बारे में सोचे। और उस पल को याद करे जब वह आपके एक झलक के लिए तड़फती थी। अगर आप किसी अज्ञात रीज़न बस बिछड़ गए है तो यह टिप्स फॉलो करे।

  1. आप को उसके बारे में ज्यादा नहीं सोचना है।
  2. जब भी वह अपने कंडीशन में सही फील करेगी तो जरूर संपर्क करेगई।
  3. आप अपने लाइफ में थोड़ा सा आगे बढ़ने का प्रयास करे।
  4. आपने लाइफ के बारे में सोचे।
  5. जो भी हुआ भूल जाने का प्रयाश करे।
  6. लाइफ में नई नई प्लानिंग बनाये
  7. रोज लाइफ के लिए एक अच्छा सा लक्ष्य रखे।
  8. अपने लक्ष्य पर फोकस करे। और उसे पूरा भी करने का प्रयास करे।
  9. आप सोचे की क्या लाइफ में सब कुछ प्यार ही है।
  10. अगर आपका प्यार सच्चा होता तो कभी भी इतना तड़फने को मजबूर न करता।

“kisi ki yaad kyu aati hai”-jab kisi ki yaad aaye to क्या करे

किसी की याद हमें तब आती है जब कोई हमसे दूर हो जाता है। जब हमारा कोई हमसे अचानक संपर्क तोड़ लेता है। याद बहुत ही कामिनी चीज होती है। जब लोगो को याद सताती है। तो लोग मरने तक तैयार हो जाते है। ऐसे में हमें किसी की यादों में तड़फने से अच्छा है। खुद को सँभालने का प्रयास करे।jab kisi ki yaad aaye to क्या करे- lovesove

याद में लोग मर मर के जीते है। उनको कोई रास्ता नहीं दीखता है। हमेसा अपने प्रेयसी की यादों में खोये रहते है। याद हमें किसी के अचानक बिछड़ जाने से आती है। जब ऐसा होता है तो काफी दर्द का अनुभूति होती है। ऐसे में खुद को संभाले जीवन एक बार मिलता है।

“jab koi yaad karta hai to kya hota hai”

जब कोई हमें याद करता है। तो हमारे जहन में एक अजीब सी बेचैनी होनी लगती है। हम कही भी रह नहीं पते है। हमेसा उसकी तस्वीर हमारे सामने बनी रहती है। हमेशा उसे ही देखने का मन करता है। उसके बिना साडी दुनिया अधूरी लगती है। वही सांसो में तो वही यादो में समां जाती है।

हमारा जीना दुस्वार हो जाता है। हम उसके बिना एक पल भी नहीं रह पाते है। जब किसी की याद सताती है और हद से गुजर जाती है। तो हम गॉड से भी मन्नत मांगने लग जाते है। हम उसके बिना एक पल भी नहीं रह पाते है। वही हमारे जीवन का आधार बन जाती है। इसी को ही सच्चा प्यार कहते है।

“kisi ki yaad aaye to dil kya kare”

जब हमें किसी की याद आये तो घबराने से अच्छा है। हमें एक सुन्दर सा बिकल्प निकालना चाहिए। हमें सर्च करना चाहिए की उसकी यादूं से बाहर कैसे निकले। कैसे अपने दिल को तड़फने से बचाये। आपको बता दें की किसी की याद में ज्यादा तड़फना भी काफी खतरनाक हो जाता है।

आपको दिल की बीमारी हो सकती है। आप हमेशा डरे डरे फील करने लगते है। और छोटी छोटी बातों पर रोने लगते है। यह सब बीमारी होने का दर रहता है। इसके अलावा मानसिक आघात लग जाता है। जिससे साडी जिंदगी ख़राब हो जाती है। तब न तो वो मिलती है। न ही पहले वाली जिंदगई। ऐसे में संभल कर रहे।

“hame kisi ki yaad kyun aati hai psychology” के अनुसार

हमें किसी की याद उसके अटैचमेंट के कारन आती है। वो हमारा जुड़ाव दिल से भी हो सकता है। या फिर हम किसी के भावनाओ से भी कनेक्ट हो सकते है। याद आने का मुख्य रीज़न हमारा किसी भी व्यक्ति या बिपरीत लिंग से आकर्षक से होता है।

यह साइकोलॉजी फैक्ट है। जब हम किसी इन्सान से इमोशनली कनेक्ट होते है तो हमें उस इंसान की याद सबसे ज्यादा आती है। इसके अलावा एक फैक्ट यह भी है। इंसान प्यार में सबसे ज्यादा आता है। प्यार की यादें काफी मीठी होती है। और काफी जयादा भयावह भी होती है।

ऐसे में खुद संभल कर रहे। खुद की जिंदगी से प्यार करना सीखे। किसी के प्रति असरित न हो खुलकर जिए। जिंदगी सिर्फ चार दिन की है। किसी के पीछे बर्बाद करने से अच्छा है। खुद को सवारने में लगाए। आपको यह पोस्ट कैसा लगा कमेंट में जरूर बताये।

 

This Post Has 6 Comments

  1. kumar

    किसी का हमें यु याद करना यू ही नहीं होता है कुछ यादे हम भी उसके दिमाग में छोड़ते है. आपका लेख जब किसी की याद सताए मुझे बेहद पसंद आया है. धन्यवाद

  2. flible

    I regret, that I can help nothing. I hope, you will find the correct decision. Do not despair.

Leave a Reply