[ धोखेबाज ] लड़की की लव स्टोरी || Short Love Story in Hindi

Short Love Story in Hindi-  

जब हम किसी से प्यार करने लगते है। तो हम अपना तन, मन और धन सब कुछ देने को तैयार हो जाते है। कभी भी एक प्रेमी अपनी प्रेमिका का दिल नहीं तोड़ना चाहता है।

लेकिन जब प्रेमिका की बात हो तो, अलग ही व्यवहार होने लगता है। आज की इस Short Love Story में बहुत कुछ देखने को मिलेगा। आखिर एक गर्लफ्रेंड एक आशिक के लिए कितना समर्पित है।

  • महेश और राधिका की Short Love Story की शुरुआत-

यह Short Love Story महेश और राधिका की है। दोनो एक दूसरे से वर्षों से प्यार तो करते थे। लेकिन इजहार नहीं कर पा रहे थे। एक दिन महेश के घर में बर्थडे पार्टी थी। तो उसमे राधिका भी शामिल थी।

राधिका को देखकर महेश मदहोश होता जा रहा था। वो सोच ही रहा था । आखिर राधिका को अपने प्यार के बारे में कैसे बताऊं। उतने में राधिका ने उससे उसके घर छोड़ने के लिए कही।

तो महेश बहुत ही प्रफुल्लित मन से तैयार हो गया। और रास्ते में अपने दिल की बात बताया। तो राधिका बोली, नही महेश मैं आपको भाई मानती हूं। उम्र में भी छोटी हूं। तो महेश गाड़ी रोककर राधिका का पैर पकड़ लिया।

महेश ने कहा, बस मुझे आपके कदमों में रहना है। आखिर में राधिका मान गई। और कॉल और व्हाट्सएप पर बात न करने का सलाह दिया। महेश भी उसकी हर बात को बिना किसी हिचक के एक्सेप्ट किया।

इतने में उसका घर आ गया। महेश ने उसे उसके घर पर छोड़ दिया। अब उसकी लव स्टोरी की कहानी तो शुरू हो गई। लेकिन महेश के मन में कही न कही से कॉल पर बात न करने का गम था।

उसे फील हुआ, राधिका पहले से ही किसी से अटैच है। मैं उसके खुशी में बाधा बन रहा हूं। वो खुश है तो मेरा प्यार खुश है। इतना सब कुछ मंथन करने के बाद महेश ने लड़की से माफी मांगने का फैसला लिया।

महेश और राधिका की Short Love Story in Hindi || Hindi Short Love Story

Short Love Story in Hindi
Short Love Story in Hindi

लगभग दो दिन बाद महेश ने किसी तरह से लड़की से जाकर माफी मांगी। महेश ने बोला, राधिका मुझे माफ कर देना। मैं आपसे प्यार नही करता। इतना कहती ही राधिका पूरी तरह से शॉक्ड रह गई।

आखिर प्यार के लिए जो बंदा पैरो पर गिर सकता है। वह अचानक माफी क्यों मांग रहा है। १० दिन नही बीते थे, राधिका पूरी तरह से बेचैन होने लगी। महेश से मिलना चाहती थी।

अपने गलती का माफी मांगना चाहती थी। जैसे तैसे राधा ने महेश से कॉन्टैक्ट किया। और अपने प्यार का इजहार किया। साथ जीने मरने की कसम तक खाई। राधिका का बर्थडे 9 जुलाई को था।

बारिश और तूफान पूरी तरह से मजबूर कर रखी थी। लोगो का आना जाना मुश्किल था। इसके बावजूद महेश ने बर्थडे सेलिब्रेशन के लिए मार्केट जाकर उसके लिए गिफ्ट लिया।

उसी रात में मिलने की प्लानिंग भी था। महेश ने रात के 1 बजे उससे मिलने गया। उसे गिफ्ट देकर उसके माथे पर टीका लगाया। फिर गले जैसे ही लगाना चाहा। तो राधिका महेश के ऊपर भड़क गई।

सिर्फ इसी लिए प्यार करते हो। महेश एक दम शून्य हो गया। मानो उसके पैरो तले से जमीन खिसक गया हो। वहा से चुपचाप भीगी आंखों में आशु लिए चला आया।

महेश के दिल पर जो चोट || Short Love Story in Hindi

दोनो की बात चीत बंद हो गई। और अलग अलग रहने लगे। महेश के दिल पर जो चोट लगी थी। वह कभी नहीं भूल सकता था। उसके सारे कॉन्टैक्ट को ब्लॉक कर दिया था।

दो महीने बाद राधिका ने अपनी फ्रेंड के नंबर से कॉल करके माफी मांगी। तो महेश ने साफ इंकार कर दिया। मैं कभी भी आपसे संपर्क नहीं रख सकता हूं। मैं आपके काबिल नही हूं।

इतना सुनते ही राधिका रोने लगी। और एक चांस के लिए गिड़गिड़ाने लगी। तो महेश भी मन गया। अब दोनो की लव स्टोरी बहुत अच्छे से चल रही थी। दोनो एक दूसरे से मिलने जुलने भी लगे थे।

महेश राधिका के हर जरूरत को पूरा करता था। यहां तक उसके कॉलेज की फीस भी भरता था। एक दिन राधिका और महेश long drive पर थे। तो राधिका के नंबर काफी कॉल और मैसेज आते रहते।

लेकिन महेश राधिका महेश के सामने कोई भी कॉल और मैसेज पिकअप नही किया। महेश को रास्ते में शक होने लगा। आखिर बात क्या है। जब महेश ने मोबाइल को चेक करने के लिए मांगा।

तो राधिका ने स्विच ऑफ होने का बहाना किया। अब राधिका और भी शक के घेरे में आ गई। महेश गाड़ी रोका। और मोबाइल लिया तो देखा 53 missed calls, aur whatsaap खोल कर चेक किया।

तो आई लव जानू जैसे मैसेज लगभग 16 लड़कों के थे। जिसमे Radhika का भी रिप्लाई भी था। महेश ये सब देखकर काफी दुखी हुआ। और वही रिश्ता तोड़ने का फैसला किया।

लड़की को वही छोड़कर वह घर चला आया। वो कहते है न, सच्चा प्यार करने वालो को सच्चा प्यार नही मिलता है। जैसे की आपने राधिका और महेश की short Love story in hindi को देखा। आपका कैसा लगा। दोस्तो के साथ जरूर शेयर करे।

Related Articles

Latest Articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here