भूख न लगने के सिर्फ लीवर ही नहीं, दिमाग भी है जिम्मेदार || Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan

Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan- क्या आपको पता है, भूख ना लगने का मनोवैज्ञानिक कारण भी होता है। यानी आपके दिमाग से जुड़ा कारण होता है। आपके शारीरिक परिवर्तन होने के साथ साथ दिमाग में भी कई परिवर्तन देखने को मिलता है, जिसके कारण भूख नहीं लगता है। अगर आपको भूख कम लगती है, तो आप डॉक्टर को दिखाने से पहले इन कारणों को जरूर जाने । आपकी बेहतर जानकारी के लिए बात दें, भूख ना लगने की मुख्य वजह मनो विकार हो सकता है। 

जैसे-जैसे हमारी जिम्मेदारियां बढ़ती जाती है। वैसे वैसे तनाव , चिंता अवसाद में पड़ जाते है। जिसकी वजह से Eating Disorder हो जाता है। 

Eating Disorder यानी खाने का मन न करना आपके पेट से संबंधित न होकर, दिमाग से होता है। यह रोग ज्यादातर किशोरों में होता है। इसके अलावा खासकर महिलाओं में भी हो जाता है । 

ऐसे में जब भी ऐसी बीमारी नजर आए तो पहले आपने आपको पूर्ण रूप से परख ले। फिर डॉक्टर से सलाह ले। 

अगर आपको लगता है, मेंटल प्रॉब्लम की वजह से है तो सबसे पहले आप अपने तनाव को कम करने की कोशिश करें । 

ऐसे में कई लोग जानकारी के अभाव में गलत डॉक्टर से सलाह ले लेते है। और लंबे समय तक इलाज करवाते रहते है । जिसकी वजह से और भी प्रॉब्लम का सामना करना पड़ जाता है । 

किशोरों में Eating Disorder ||  Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan

आपको बता दें कि किशोर बड़े होने के दौरान हार्मोनल चेंजेज बहुत अधिक होता है। ऐसे में इस अवस्था में खुद को सजने संवरने और स्मार्ट दिखने के दबाव को अधिक फील करते है। 

चाहे वह साथियों का दबाव हो सकता है। या फिर खुद से दूसरे से अच्छा दिखने की प्रवृति हो सकती है। 

Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan

ऐसे में दूसरे कल अच्छा दिखने के चक्कर में अत्यधिक भोजन करने लगते है। और धीरे धीरे इसी तनाव के कारण Eating Disorder का सामना करना पड़ जाता है। 

यह पुरुषों के तुलना में महिलाओं में अधिक होता है । और असर इस बीमारी का पता नही चलता है । 

आजकल लोग टीवी के मॉडल को फॉलो करते है। उनके जैसा दिखना चाहते है। उनकी जैसी मांसपेशी बनाना चाहते है। 

इस दबाव में आकर अत्यधिक प्रेशर से जिम करने जाते है। और सप्लीमेंट के दौर पर तमाम नुकसान दायक ड्रग लेना शुरू कर देते है। 

जिसकी वजह से किशोरों के स्वास्थ्य को काफी हानि पहुंचाता है। और बाद में ईटिंग डिसऑर्डर के शिकार हो जाते है। 

इसी कारण से मर्दाना ताकत भी कम होने लगता है। जिसके कारण आगे चलकर काफी प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है। 

ऐसे में खुद को खुशहाल रखें, और जीवन में नई नई चीजों को उतारने की कोशिश करें । जिससे रोगमुक्त रहें। समय पर पौष्टिक आहार ले। 

खुद को चुस्त और दुरुस्त नेचुरल तरीके से रखने का प्रयास करें। ताकि शरीर की ऊर्जा बरकरार रहे। 

खाने के विकार के मुख्य कारण ||  Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan

  • चिंता
  • अवसाद
  • तनाव
  • आत्मसम्मान की कमी
  • डर के कारण से
  • जुनूनी एक्टिविटी
  • खाने के विकार यानी ईटिंग  डिसऑर्डर के कई कारण है। जैसे मुख्यतया जेनेटिक histroy, आपके आसपास का पर्यावरण और तनावपूर्ण मानसिक आघात है। इस कारण से भी मनुष्य को ईटिंग डिसऑर्डर हो सकता है।
  • कुछ लोग अपने बॉडी लुक्स को एक्सी रखने के लिए काफी तनाव में रहते है । डायटिंग करते हैं। और ईटिंग डिसऑर्डर का शिकार हो जाते है।
  • खाने के बाद व्यायाम करना भी ईटिंग डिसऑर्डर का लक्षण है।
  • स्लिम बॉडी फिगर के लिए दवा उसे करना भी इसका कारण है।
  • सामाजिक अपमान और भय का होना ।

Bhookh Na Lagne Ke Karan Aur Lakshan आपको बता दें, Eating Disorder का अभी तक कोई सटीक कारण नहीं पता चल पाया है । हालाकि शारीरिक, मानसिक, अत्यधिक दबाव को झेलना इसका मुख्य कारण माना जाता है । 

Related Articles

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here