You are currently viewing 19 Benefit of saliva | मुँह के लार के कमाल के फायदे
मुँह की लार का औषधीय गुण

19 Benefit of saliva | मुँह के लार के कमाल के फायदे

Share now

मुँह की लार का औषधीय गुण(Benefit of saliva) आपको इस पोस्ट में बताएंगे, लार हमारे जीवन में क्या भूमिका निभाता है, लार से कैसे चेहरे के दाग धब्बे को खत्म किया जा सकता है। लार से कैसे पाचन शक्ति को बढ़ाया जा सकता है? और लार से आंखों से जुड़ी प्रॉब्लम्स को कैसे ठीक किया जा सकता है। इन सब पर हम आपको बेहतरीन 19 टिप्स प्रोवाइड करेंगे। जो आपको कही भी देखने को नहीं मिलेगा। यह आयुर्वेदिक दुनिया का एक पहल है कि आप लोगों को आयुर्वेदिक से परिचित कराना हमारा धर्म है। ताकि आयुर्वेद के साथ-साथ हमारी जीवन के प्रकृति अच्छे से चलती रहे। और जीवन में सार्थकता विद्यमान रहे।

मुँह की लार का औषधीय गुण- लार का उपयोग करके, कैसे शरीर के दाग धब्बे, आंखों की रोशनी और पाचन शक्ति,
मुँह की लार का औषधीय गुण
  1. ब्रह्म मुहूर्त का लार शक्तिशाली और औषधीय गुण से भरपूर– क्या आप जानते हैं ब्रह्म मुहूर्त का लार सबसे ज्यादा शक्तिशाली और औषधीय गुण से भरपूर होता है। ब्रह्म मुहूर्त का लार अन्य समय की अपेक्षा काफी ज्यादा लाभदायक साबित होता है। इसे सुबह उठते ही निकल लेना चाहिए। यह आपकी पाचन शक्ति के अलावा शरीर के कई गतिविधियों को मजबूती प्रदान करता है। इससे आपकी मानसिक शक्ति भी दोगुना हो जाती है।
  2.  शरीर पर घाव- यदि आपके शरीर पर कोई ऐसा घाव है, जो किसी भी दवा से ठीक नहीं हो रहा है, ऐसे में सुबह उठकर बांसी लार घाव पर लगाना चाहिए। ऐसा लगातार 20 से 25 दिन करने पर घाव बड़े आसानी से सूख जाता है।
  3. आप अपने आसपास की जानवरों को अक्सर घाव को चाटते हुए देखा होगा, यही कारण है कि जानवर घाव को चाट कर ठीक कर लेते हैं । उनके पास कोई भी दवा नहीं होती है उनकी औषधीय शक्ति लार होती है। वो लार की उपयोगिता को समझ सकते है। लेकिन मानव नही ।
  4. चेहरे पर दाग धब्बा- यदि आपके शरीर पर या चेहरे पर किसी भी प्रकार का दाग धब्बा हो, और ठीक नहीं हो रहा है। ऐसे में लगातार छह महीने तक बासी मुंह का लार लगाने से आसानी से ठीक हो जाता है। एग्जिमा और सोराइसिस जैसी बीमारियों में उपयोग से जल्द ही ठीक हो जाती है।
  5. लार में पोषक तत्व- मनुष्य की लार में 18 पोषक तत्व पाए जाते हैं। जो कि शरीर की कोशिश किए तंत्र और पाचन शक्ति के लिए बहुत ही उपयोगी साबित होते हैं। ऐसे में मनुष्यों को लार की उपयोगिता को औषधीय गुण के रूप में इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। और इसकी अवधारणा को बरकरार रखने के लिए इस पोस्ट को दूसरों के साथ भी शेयर करना चाहिए।
  6.  आंखों की रोशनी- यदि आपकी आंखें लाल रहती हैं या आंखों की रोशनी कम हो गईं है। जिसके कारण आपको कई सारे अंग्रेजी दवाइयों का उपयोग करना पड़ रहा। और चश्मे का प्रयोग करना पड़ता है। ऐसे में आपको सुबह की लार को आंखों में लगाना चाहिए। जिससे आपकी आंखों की रोशनी बढ़ जाएगी।और चश्मा उतर जाएगा।

Read More-

19 TIPS- दमकती त्वचा के घरेलू उपाय | CHEHRE KI CHAMAK KAISE BADHAYE |

आयुर्वेद- भोजन कब और कैसे करना चाहिये | गजब का 51 फैक्ट

आपकी जानकारी के लिए बता दें, मनुष्य की लार में अपार शक्तियां विद्यमान होती हैं। जिसे मनुष्यों ने अनदेखा कर दिया है। लार में लगभग 25 पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर के लिए बेहद लाभकारी होता है।

मुँह की लार का औषधीय गुण- लार का उपयोग करके, कैसे शरीर के दाग धब्बे, आंखों की रोशनी और पाचन शक्ति
मुँह की लार का औषधीय गुण
  1. बासी थूक के फायदे फोर स्किन – यदि आपकी आंखों के नीचे कालापन रहता है, या दाग धब्बा है । ऐसे में सुबह उठने के 10 मिनट बाद बासी मुंह का लार, काले धब्बे पर लगाने से काला धब्बा जड़ से गायब हो जाता है। और आपका चेहरा बेहद साफ सुथरा नजर आता है।
  2. छोट ठीक करने के उपाय- लार दुनिया की सबसे अच्छी औषधियों में से एक है। वह चाहे मनुष्य का हो, या फिर जानवर का । आप बहुत से ऐसे जानवर देखे होंगे, चोट लगने पर घाव को मुंह से चाटते हैं। ऐसा करने पर जानवरों की घाव बड़े आसानी से ठीक हो जाता हैं। ऐसे ही मनुष्य में भी लार पाया जाता है। जिसमें बहुत अधिक औषधीय गुण होता है। यदि आपको चोट लगी है। उस पर अपना लार लगा लीजिए। तो आपका गांव आसानी से ठीक हो जाएगा।
  3. सुबह के लार का गुण- सुबह की लार को थूकना नही चाहिए। क्योंकि लार के पैदा होने से 100000 ग्रंथियों का काम आसान हो जाता है। ऐसे में आप अपने लार को तभी थूके, जब आवाशक हो ।
  4. लार क्षारीय गुण- आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दें, सुबह का लार बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें क्षारीय गुण पाया जाता है। इस का पीएच मान 8.4 के आस पास होता है।
  5. लार को कैसे बचाये – पान को बिना चुने और कत्थे के खाना चाहिए, जिससे उसका लार थूकना ना पड़े। और आप आसानी से लार को निकल जाएं। यदि आप चुने के कत्था और जर्दा साथ में खाते हैं, तो यह कैंसर पैदा करता है। ऐसे में सुझबुझ के साथ क्या खाना है, इसका चुनाव करें।
  6. लार को बचाये- देसी पान खाने के लिए बहुत थोड़ा सा चुना, लॉन्ग, बड़ी इलायची आदि मिलाकर खाने से शरीर को लाभ मिलता है। आपके लार की शक्ति और बढ़ जाती है। जिसके कारण आपके पाचन शक्ति में शक्ति वृद्धि होती है।
  7. हर मनुष्य के अंदर लगभग १.५ लीटर लार प्रतिदिन बनती है। इसमें मौजूद कैविटी, हानिकारक बैक्टीरिया और बारीक भोजन के कणों को साफ करके निकलने में मदत करती है।
  8. मसूड़ों और गले के रोग से रक्षा- आपको बता दें, इसमें मौजूद लाइसोजाइम नामक एंटीबैक्टीरियल तत्व और इम्यून प्रोटीन A होते हैं। जो मसूड़ों के रोग और गले के रोग से रक्षा करके हमे बीमारी से बचाती है।
  9. या आपको पता है, यदि शरीर में लार न हो, तो भोजन निगल सकते हो? आपको बता दें, लार के बिना भोजन को निगलना मुश्किल हो जायेगा। ऐसे में लार शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  10. लार की गुणवत्ता- आपकी जानकारी के लिए बता दें, भारत में जितने भी टुथपेस्ट होते हैं। सब लार की गुणवत्ता को कम करते हैं। ऐसे में टूथपेस्ट के स्थान पर नीम की दातुन का प्रयोग करना चाहिए। जिस से लार की शक्ति बनी रहे। और आपका जीवन अच्छा चलता रहे।
  11. लार हमारे मुंह में क्या काम करती है- जब हमारे शरीर की गुणवत्ता कम होने लगती है। तो हमारे शरीर में अनेक तरह के बीमारियां आने लगते हैं। जैसे बालों का सफेद होना, बालों का झड़ना, दातों का दर्द होना और आंखों के नीचे काले धब्बे का निशान हो जाना आदि की समस्या होने लगती है।
  12. ऐसे में आप लोगों से अनुरोध है, लार की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए नीम के दातुन का इस्तेमाल करें। और खाने में पौष्टिक भोजन का इस्तेमाल करें। और सुबह उठकर व्यायाम करें। यह सब करना, आपका पहला कर्तव्य है।

अभी हमने बताया, लार का उपयोग करके, कैसे शरीर के दाग धब्बे, आंखों की रोशनी और पाचन शक्ति को ठीक किया जा सकता है। यह आयुर्वेदिक टिप्स है। जो आपके दैनिक जीवन में बहुत काम आयेगी ।

Leave a Reply